विदाई – हिंदी कविता

जानता हूँ कि ये दिन लौट के ना आयेंगे दुबारा |

जब साथ छूट चुकेगा, इस जगह से हमारा ||

जानता हूँ कि ये प्यारे साथी कल बिछड़ जायेंगे |

अपनी ही दुनिया में सब अलग अलग बिखर जायेंगे ||

जाता हूँ कि कल मेरी अपनी ही अलग एक राह होगी |

जहाँ शायद ही किसी को किसी की परवाह होगी || [Read more…]